आइये जानते है अलाउद्दीन खिलजी के इतिहास के बारे में | Study Notes For Alauddin Khilji

आइये जानते है अलाउद्दीन खिलजी के इतिहास के बारे में | Study Notes For Alauddin Khilji

Alauddin Khilji History in Hindi खिलजी वंश के दूसरे शासक अलाउद्दीन खिलजी अपने निदर्यी और लड़ाकू स्वभाव के लिए भारतीय इतिहास में मशहूर था। वो एक शक्तिशाली, कुशल एवं महत्वकांक्षी शासक था जिसने काफी लूटपाट और उत्पात मचा कर अपने साम्राज्य का काफी विस्तार कर लिया था। वह दक्षिण भारत को जीतने वाला पहला कुशल मुस्लिम राजा भी था। उसने अपने शासनकाल में दक्षिण में मदुरै तक अपने खिलजी साम्राज्य का विस्तार कर दिया था। अलाउद्दीन खिलजी के करीब 300 साल बाद भी कोई भी शासक इतना बड़ा

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का इतिहास | Rani Lakshmi Bai Jhansi, Jhansi Wali Rani

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का इतिहास | Rani LakshmiBai Jhansi, Jhansi Wali Rani

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का इतिहास | Rani Lakshmi Bai Jhansi Rani Laxmi Bai in Hindi लक्ष्मीबाई उर्फ़ झाँसी की रानी मराठा शासित राज्य झाँसी की रानी थी। जो उत्तर-मध्य भारत में स्थित है। रानी लक्ष्मीबाई 1857 के प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगना थी जिन्होंने अल्पायु में ही ब्रिटिश साम्राज्य से संग्राम किया था। झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का इतिहास – Rani Laxmi Bai History in Hindi नाम (Childhood Name) रानी लक्ष्मीबाई (मणिकर्णिका तांबे) मनु बाई जन्म (Birthday) 19 नवंबर 1828 जन्मस्थान (Birthplace) वाराणसी, उत्तर प्रदेश, भारत

टिपू सुल्तान का इतिहास,Tipu Sultan History in Hindi,'मैसूर का शेर' टिपू सुल्तान का इतिहास Tiger of Mysore Tipu Sultan History in Hindi,बहादुर योद्धा-टीपू सुल्तान

Tipu Sultan History in Hindi | बहादुर और योग्य शासक टीपू सुल्तान का इतिहास

‘मैसूर का शेर’ टिपू सुल्तान का इतिहास | Tiger of Mysore Tipu Sultan History in Hindi मैसूर साम्राज्य के शासक टीपू सुल्तान – Tipu Sultan के बहादुरी के किस्से कौन नहीं जानता। इतिहास के पन्नों में टीपू सुल्तान को “मैसूर का शेर” – Tiger of Mysore बताया गया है। टीपू सुल्तान एक कुशल, वीर और बहादुर वीर थे। जिनमें वीरता और साहस कूट-कूट कर भरा था। टीपू सुल्तान की वीरता के आगे अंग्रेजों को भी घुटने टेकने पडे। इसके अलावा वे एक बेहद प्रशंसनीय रणनीतिकार भी थी, अपनी

Indian Plateau | भारतीय प्रायद्वीपीय पठार, भारत के प्रमुख प्रायद्वीपीय दर्रे

Indian Plateau | भारतीय प्रायद्वीपीय पठार ज़मीन का वो हिस्सा जो चारों ओर पानी से घीरा हो और मुख्यभूमि से एक भू-सन्धि के द्वारा जुड़ा हो, उसे प्रायद्वीप कहते है। भारतीय प्रायद्वीपीय पठार प्राचीन गोंडवानालैंड का हिस्सा है और त्रिकोणीय आकार में है। इसकी औसत ऊंचाई 600 से 900 मीटर के बीच है। कोरोमंडल के पूर्वी घाट, पश्चिमी घाट, पश्चिमी तट, अरावली पर्वतमाला, विंध्य पर्वतमाला और सतपुरा पर्वतमाला भारतीय प्रायद्वीप बनाते हैं। हिमालय क्षेत्र में क्षैतिज प्रवृत्ति वाले पहाड़ मिलते हैं, वही प्रायद्वीपीय पठार वाले क्षेत्र में ऊर्ध्वाधर

Courses After 12th | 12वीं के बाद क्या करें ?

Courses After 12th | 12वीं के बाद क्या करें ?

12वीं के बाद ज्यादातर छात्र करियर को लेकर भ्रमित रहते हैं, क्योंकि 12 वीं के बाद चुना गया कोर्स आपका पूरा भविष्य तय करता है। छात्रों को अगर सही गाइडेन्स मिले तो वे अपने भविष्य को संवार सकते हैं लेकिन यह छात्रों की रुचि पर भी निर्भर करता है। छात्रों को अपने रूचि के अनुसार ही कोर्सेस को चुनना चाहिए ताकि वे उसमें अपना करियर बना सके और सफलता पा सकें, 12 वीं के बाद करियर को लेकर फैसला लेना थोड़ा मुश्किल जरूर है लेकिन अगर इसे सोच-समझकर

Top 15 Programming Language in Hindi | टॉप प्रोग्रामिंग लैंग्वेज

Top 15 Programming Language in Hindi | टॉप प्रोग्रामिंग लैंग्वेज

Top 15 Programming Language Programming Language आपमे से बहुत से लोग कंप्युटर और इससे जुडे विभिन्न शिक्षाक्रम के बारे मे दिलचस्पी रखते होंगे। साथ ही आजके युग मे अधिकतर लोगो का झुकाव विभिन्न सॉफ्टवेयर को बनाने की तकनीकी शिक्षा और इस क्षेत्र मे करियर के विकल्पो की तरफ होता है। किसी भी सॉफ्टवेयर को बनाने हेतू विभिन्न प्रोग्रामिंग भाषाओ का संपूर्ण ज्ञान होना अनिवार्य होता है, शायद इनमे से कुछ भाषाओ से आप परिचित भी होंगे। पर क्या कभी आपने सोचा है के मौजुदा प्रोग्रामिंग भाषाओ मे वो